RSSविज्ञान संहिता (Vigyaan Blogs)

Heartfelt Tributes to Father of DNA Fingerprinting Dr Lalji Singh!!

Heartfelt Tributes to Father of DNA Fingerprinting Dr Lalji Singh!!

| December 10, 2017 | 0 Comments

Father of DNA Fingerprinting in India, Former Director of CCMB, Former Vice Chancellor of Banaras Hindu University, Padma Shri Dr Lalji Singh Passed Aawy today at approx 9 PM! It is a personal loss to every scientist and every citizen of this Nation. Dr Singh will be remembered for ever and he will always remain […]

Continue Reading

दशानन का दसवां सिर – गॉसिपोल

दशानन का दसवां सिर – गॉसिपोल

| December 6, 2017 | 0 Comments

दशानन का दसवां सिर है….. गॉसिपोल। कुदरत ने इसे पौधे को इसलिए दिया था कि यह कीड़ें-मकोड़ों से पौधे की रक्षा कर सके। इसे खाने वाले कीड़ें-मकोड़े इनफर्टाइल हो जाते थे। यह सिर वैसे तो किचन में कम ही दिखाई देता है मगर कुछ इन्नोवेटिव महिलाएं उस चीज की खीर बनाती हैं जिसमें गॉसिपोल प्रचुर […]

Continue Reading

घी पुराण: डॉ संजीव कुमार वर्मा

| November 28, 2017 | 0 Comments

दूध में सामान्यतः 2.5 से 6 प्रतिशत तक वसा होती है। मिल्क फैट वस्तुतः विभिन्न फैटी एसिड एस्टर्स जिन्हें ट्राइग्लिसराइड्स भी कहते हैं का मिश्रण है। ये फैटी एसिड्स भी दो तरह के हैं 1. सैचुरेटिड और 2. अनसैचुरेटेड। सैचुरेटिड में मुख्य हैं ब्यूटाईरिक एसिड, कैपरोइक एसिड, कैपरिक एसिड, कैप्रिलिक एसिड, लॉरिक एसिड, माईरिस्टिक एसिड, […]

Continue Reading

दशानन का नौवाँ सिर: सैपोनिन।

दशानन का नौवाँ सिर: सैपोनिन।

| November 26, 2017 | 0 Comments

दशानन का नौवाँ सिर है…. सैपोनिन। यह वह फाईटोकेमिकल है जो पानी में घुलने पर झाग पैदा करता है। इसी के कारण पौधों के बीजों में थोड़ा कडुआ स्वाद आता है और इसी कड़वेपन के कारण वह चिड़ियों और कीड़े मकोड़ों से बच रहता हैं। पौधों में सैपोनिन की मात्रा बहुत ही कम होती है […]

Continue Reading

मौलिक विज्ञान में प्राचीन भारत: भाग 1

| November 23, 2017 | 0 Comments

मौलिक विज्ञान में प्राचीन भारत अघोरी को काव्य में रुचि है, निदा फ़ाजली उर्दू के प्रसिद्द कवि थे,जब सारे मुसलमान पाकिस्तान भाग रहे थे तो वो भारत भाग आए थे, यह अलग कथा है, फिर कभी। निदा साहब पिछले वर्ष मर गए, उन्होंने युवा जोड़ों के मनोभाव पर लिखा था- “तेरे मेरे नाम नए हैं […]

Continue Reading

भोलेनाथ अघोरीनाथ : एक राष्ट्रसेवक, संसार की भीड़ के बीच एक भरतवंशी शिशु

भोलेनाथ अघोरीनाथ : एक राष्ट्रसेवक, संसार की भीड़ के बीच एक भरतवंशी शिशु

| November 23, 2017 | 0 Comments

बाबा अघोरी नाथ कौन हैं, कहाँ रहते हैं, क्या है, क्या थे, शायद बिरले ही जानते होंगें| आपके लेखन से यह तो विदित है कि आप अपने काल के विख्यात वैज्ञानिक या प्रोफेसर ही रहे होंगें, किन्तु आपकी लेखनी की विद्वता का पुट आपको किसी महामानव से कम सिद्ध नहीं करता | आज, आप सोशल […]

Continue Reading

दशानन का पांचवा सिर: ऑक्जेलिक एसिड या ऑक्सालेट

दशानन का पांचवा सिर: ऑक्जेलिक एसिड या ऑक्सालेट

| November 20, 2017 | 0 Comments

दशानन का पांचवा सिर है ऑक्जेलिक एसिड या ऑक्सालेट। यह वह पदार्थ है जो पौधों में तो होता ही है। इसके अलावा मानव शरीर भी इसका उत्पादन करता रहता है। जो लोग ऑक्सालेट रिच फ़ूड ज्यादा खाते हैं या जिन व्यक्तियों के शरीर में इसका उत्पादन ज्यादा होने लगता है उन सभी की किडनी में […]

Continue Reading

दशानन का आठवां सिर: पॉलीफिनोल्स व टैनिन्स

दशानन का आठवां सिर: पॉलीफिनोल्स व टैनिन्स

| November 16, 2017 | 0 Comments

दशानन का आठवां सिर है… पॉलीफिनोल्स व टैनिन्स। यही वह पदार्थ है जिसके कारण खाने के चीजों में कसैलापन आता है। कुदरत ने इसे भी पौधों को इसलिए दिया था कि वह अपनी रक्षा कर सकें कीड़े- मकोड़ों से और जंगली जानवरों से। पहले बात करते हैं इसके रावण स्वरुप की। भोजन में उपस्थित होने […]

Continue Reading

ठंडा ठंडा पानी

| November 14, 2017 | 0 Comments

1978 में एक फ़िल्म आई थी ‘पति पत्नी और वो’। कॉमेडी मूवी थी और स्क्रीनप्ले के लिए कमलेश्वर जी को फ़िल्मफ़ेअर अवार्ड भी मिला था। इसी का एक गाना था… ठंडे-ठंडे पानी से नहाना चाहिए… उस समय काफी दिमाग लगाया कि आखिर ठंडे पानी से ही क्यों? मगर समझ नहीं आया। फिर विज्ञान पढ़ा तो […]

Continue Reading

दशानन का सप्तम सिर: लेक्टिंस

दशानन का सप्तम सिर: लेक्टिंस

| November 10, 2017 | 0 Comments

जैसे घट-घट में राम है उसी तरह घर-घर में रावण भी है। दस लेखो की इस सीरीज में हम आपको रावण से मिलवाते हैं। जी हाँ वही प्रकांड पंडित महा विद्वान् राक्षस रावण जिसे दशानन भी कहा जाता है। हमारा दशानन लंका में नहीं रहता। वह रहता है आपकी रसोई में। आप रोज उसे खाते […]

Continue Reading