Tag: Science in Ancient India

<span style='font-size: 12pt;'>Illuminating India: 5000 Years of Science and Innovation</span> <hr />Celebration of India’s contribution to science, technology and mathematics during last 5000 years begins in London

Illuminating India: 5000 Years of Science and Innovation
Celebration of India’s contribution to science, technology and mathematics during last 5000 years begins in London

| October 23, 2017 | 0 Comments

The Science Museum at Exhibition Road, South Kensington, London SW7 2DD is Celebrating 5000 years of Science and Innovation from India. The exhibition “Illuminating India: Exhibition of 5000 Years of Science and Innovation” is open for public during 4 October 2017 – 31 March 2018 London के सुप्रसिद्ध साइंस म्युसियम में इन दिनों एक खास […]

Continue Reading

प्राचीन भारत के महान वैज्ञानिक: भाग 2

प्राचीन भारत के महान वैज्ञानिक: भाग 2

| April 24, 2017 | 0 Comments

‘प्राचीन भारत के महान वैज्ञानिक: भाग १’ लेख में मैंने वेदों में निहित ज्ञान-विज्ञान के वर्तमान में उपलब्ध लेखकविहीन (authoress) स्वरुप एवं सलेखक (authored) स्वरुप का वर्णन किया | इस लेख के भाग १ में बौधायन सुल्बसुत्र, मानव (Manava), अपस्तम्बा (Apastamba) एवं पाणिनि (Panini) के वैज्ञानिक योगदानो का संक्षिप्त में वर्णन किया गया | प्रस्तुत […]

Continue Reading

प्राचीन भारत में विज्ञान विशेषांक: एक परिचय

प्राचीन भारत में विज्ञान विशेषांक: एक परिचय

| April 22, 2017 | 2 Comments

“जब पूरा विश्व अज्ञानता के अँधेरे में डूबा हुआ था, उस समय भारत के महान वैज्ञानिक एवं भारत का ज्ञान विज्ञान एक रोशनी बनकर जगमगा रहा था, राह दिखा रहा था……” यह वाक्य मैंने ना जाने कितनी बार स्कूल के दिनों में हिन्दी की परीक्षाओं में लिखे जाने वाले “विज्ञान एक तलवार” निबंध में लिखा […]

Continue Reading

प्राचीन भारत के महान वैज्ञानिक: भाग १

प्राचीन भारत के महान वैज्ञानिक: भाग १

| April 8, 2017 | 2 Comments

भारत का प्रथम वैज्ञानिक भारत का प्रथम वैज्ञानिक तो शायद वही होगा जिसने प्रथम हवन वेदिका बनाई होगी | मै ऐसा क्यों लिख रहा हूँ, इसका खुलासा आगे इसी लेख में कर दिया जायेगा | किन्तु इस चर्चा पर आने से पहले, हमें वेदों के स्वरुप पर कुछ यथार्त  टिप्पणी करनी होंगी एवं इसको समझने […]

Continue Reading